Aug 10, 2022

Posted by | 0 Comments

भारत के अद्भुत कलाकार और मुंबईकर ललित पाटिल ने मुम्बई की झुग्गी बस्तियों को किया अमर,उनके परिदृश्य को अपने कैनवास में उतारकर बनाया खूबसुरत !

भारत के अद्भुत कलाकार और मुंबईकर ललित पाटिल ने मुम्बई की झुग्गी बस्तियों को किया अमर,उनके परिदृश्य को अपने कैनवास में उतारकर बनाया खूबसुरत !

परवेज दमानिया, सुधारक ओल्वे, मधुश्री, रूपाली सूरी, रुशा माधवानी, अनुषा श्रीनिवासन अय्यर, संजय निकम ने जहांगीर आर्ट गैलरी में ललित पाटिल के लैंडस्केप ऑफ आइडेंटिटी का उद्घाटन किया।

ललित पाटिल, तीन दशकों से मुंबईकर के दृश्य कलाकार, अपने आप में एक स्लम स्टार हैं। उनमें वास्तव में मलिन बस्तियों को कालातीत कृतियों में बदलनें की अद्भुत कला है।

जहांगीर आर्ट गैलरी, गैलरी 3, लैंडस्केप ऑफ आइडेंटिटीज में उनकी प्रदर्शनी का उद्घाटन पद्म श्री सुधारक ओल्वे, कला संग्रहकर्ता परवेज दमानिया, पार्श्व गायिका मधुश्री और उनके संगीतकार पति रॉबी बादल, अभिनेत्री रूपाली सूरी, सेलेब पोषण विशेषज्ञ रुशा माधवानी और निर्देशक-समतावादी पृथ्वी ने किया।  योद्धा अनुषा श्रीनिवासन अय्यर, मूर्तिकार-क्यूरेटर संजय निकम आदि वहाँ मौजूद थे।

ललित पाटिल में एक कलाकार के तौर पर अपना खाली समय न केवल शहर को देखने में बिताया है, बल्कि वो मलिन बस्तियों को अपनी प्रेरणा के रूप में देखते है।  “मुम्बई एक जटिल जगह है – यह शहर में आने वाले नागरिकों के लिए जगह बनाती है और उन्हें अपना बनाती है। चाहे वह इसकी इमारतों, झुग्गियों और लोगों के साथ हो, वे सभी मुंबई से घिरे हुए हैं,” पाटिल ने कहा।

मलिन बस्तियों की संरचना कलाकार के लिए एक अजीब आकर्षण रखती है।  वे कहते हैं, “झुग्गी बस्तियों में एक अप्रत्याशित संरचना होती है जिसमें वे घर होते हैं जो क्षेत्र को घेरते हैं, जिसमें प्रकाश अंधेरे से गुजरता है, आकार बनाता है। ये पृष्ठभूमि में विशाल इमारतों के साथ संरचनाओं की अपनी कहानी बताने के लिए अपनी कहानी होती है। वे मेटाफ़ेज़ को परिभाषित करते हैं ।”  मानवीय संवेदनाओं से परिपूर्ण जटिलता और अमूर्त रूप की यह संरचना और जिंदा रहने का बंधन शहर को उतना ही जिंदा रखता है।  परिदृश्य में यह भावनात्मक पहलू है जो मुझे सबसे ज्यादा उत्साहित करता है।”

दूसरों के विपरीत, पाटिल स्पॉट पेंटिंग पसंद करते हैं।  वह वास्तव में झुग्गी-झोपड़ियों का दौरा करते है और अपने जमे हुए फ्रेम में हर पल का अनुभव करते है।  “प्रत्येक स्ट्रोक मेरे लिए एक भावना का प्रतिनिधित्व करता है। पाटिल की ‘लैंडस्केप ऑफ आइडेंटिटीज’ शीर्षक वाली वैचारिक कृति ऐसी है कि कला के हर टुकड़े की अपनी परिभाषा, एक कहानी, एक पहचान होती है।  उन्होंने विशेष खंड भी बनाए हैं जहां स्क्रैप अपना कैनवास बनाता है।  “मेरा मानना है कि मेरा काम मुझे, आपको, मुंबई के लोगों को  दृढ़ता से परिभाषित करते हैं”।

भारत के अद्भुत कलाकार और मुंबईकर ललित पाटिल ने मुम्बई की झुग्गी बस्तियों को किया अमर,उनके परिदृश्य को अपने कैनवास में उतारकर बनाया खूबसुरत !

Read More
Aug 10, 2022

Posted by | 0 Comments

Mumbaikar Lalit Patil Captures Slums and Immortalises their Landscape in his Canvas

Mumbaikar Lalit Patil Captures Slums and Immortalises their Landscape in his Canvas

Parvez Damania, Sudharak Olwe, Madhushree, Rupali Suri,  Rusha Madhwani, Anusha Srinivasan  Iyer, Sanjay Nikam inaugurate Lalit Patil’s Landscape of Identities at Jehangir Art Gallery

Lalit Patil, a Mumbaikar visual artist from three decades, is a Slum Star in his own right. He actually converts slums into timeless masterpieces.

His exhibition at Jehangir Art Gallery, Gallery 3,  titled Landscape of Identities was inaugurated by Padma Shri Sudharak Olwe, art collector Parvez Damania, playback singer Madhushree and her composer husband Robby Badal, actress Rupali Suri, celeb nutritionist Rusha Madhwani and director-egalitarian earth warrior Anusha Srinivasan Iyer, sculptor-curator Sanjay Nikam among others.

The artist in Lalit Patil spends his free time not just observing the city, but looks at the slums as his inspiration. “Munbai is a complex place — it makes space for the denizens that flow into the city and makes them its own. Whether it be with its buildings,  slums and people, they are all enveloped by Mumbai,” avers Patil.

The structure of the slums hold a strange fascination for the artist. Says he, “Slums have  an unexpected structure wherein they are houses enveloping the area, with light passing through  darkness, forming shapes. These. Structures  in juxtaposition with huge buildings in the background have their own story to tell. They define the metaphase if the city.” This structure of complexity and abstract form replete with human emotion and the bond to stay alive keeps the city alive as much. It is this emotional aspect in the  landscape that excites me most.”

Unlike others, Patil prefers spot paintings. He actually visits the slums and captures each moment he experiences in his frozen frames. “Each stroke represents an emotion for me,” he enthuses.  Patil’s conceptual work titled ‘Landscape of Identities’ is such that  every piece of art has its own definition, a tale, an identity.  He has even made special sections where scrap creates its own canvas. “I believe my works strongly define me, you, the people of Mumbai, us,” he concludes.

Mumbaikar Lalit Patil Captures Slums and Immortalises their Landscape in his Canvas

Read More
Aug 10, 2022

Posted by | 0 Comments

महेश्वर फिल्म्स इंटरनेशनल का नया धमाका ‘तेरे नाल सजना’ – इस रोमांटिक गाना ने रिलीज़ होते लोगों के दिलों में बनाई अपनी जगह

महेश्वर फिल्म्स इंटरनेशनल का नया धमाका  ‘तेरे नाल सजना’ –  इस रोमांटिक गाना ने  रिलीज़ होते लोगों के दिलों में बनाई अपनी जगह

महेश्वर फ़िल्म्स इंटरनैशनल प्राइवेट लिमिटेड ऐंड ग्लोबल हंडल SDN BHD ने हाल ही में प्रोड्यूस किया एक जबरदस्त रोमांटिक गाना ‘तेरे नाल सजना’ , जिसको रिलीज़ किया है जी म्यूजिक कंपनी ने । तेरे नाल सजना  को बॉलीवुड में एक जबरदस्त ओपनिंग मिली है । लोगों को ना सिर्फ़ इस गाने के बोल पसंद आ रहे हैं, बल्कि इस वीडियो सॉन्ग को जिस तरह से फ़िल्माया गया है, उसे भी ख़ूब पसंद किया जा रहा है. यही वजह है कि सोशल मीडिया पर यह गाना चर्चा का विषय बना हुआ है.

‘तेरे नाल सजना’ गाने को बुधातिया मुखर्जी और सलोनी ठक्कर ने अपनी ख़ूबसूरत आवाज़ से संवारा है तो वहीं इस गाने को बुधातिया मुखर्जी ने ही संगीतबद्ध भी किया है. इतना ही नहीं, बुधातिया मुखर्जी ने आंचल और मुकुल के साथ इस गाने को साझा तौर पर लिखा भी है. वीडियो सॉन्ग ‘तेरे नाल सजना’ को शुभम झा ने डायरेक्ट किया है तो इसे मनोज महेश्वर और रितु मन ने मिलकर प्रोड्यूस किया है । और इसके सह निर्मात्री है नेहा ।

उल्लेखनीय है कि माहेश्वर फ़िल्म्स इंटरनैशनल प्राइवेट लिमिटेड ऐंड ग्लोबल हंडल SDN BHD के बैनर तले प्रोड्यूस किये गये ‘तेरे नाल सजना’ को मलयेशिया में बेरजाया हिल्स के कोल्मर ट्रॉपिकेल में फिल्माया गया है जिसे बड़ी ही ख़ूबसूरती के साथ अपने कैमरे में सार्थक जैन ने क़ैद किया है जबकि इस गाने को बेहद चुस्त तरीके से शंकर पांडे ने एडिट किया है.

‘तेरे नाल सजना’ में एक्टिंग करने के अपने अनुभवों को साझा करते हुए हीरोइन निक्की रघुवंशी कहती हैं, “मलयेशिया में इस गाने की शूटिंग करने का मेरा अनुभव बेहद शानदार रहा. हमने मलयेशिया के ख़ूबसूरत लोकेशन्स पर गाने की शूटिंग की और शूटिंग के बाद हम किसी परिवार की तरह घूमने-फिरने निकल जाया करते थे‌. हमने इस क़दर वहां पर एंजॉय किया कि हमें लगा ही नहीं कि हम वहां पर शूटिंग या फिर काम कर रहे थे. मस्ती-मस्ती में गाने की शूटिंग की और फिर वहां से अपने साथ यादों का ख़जाना लेकर लौटे”.

हीरो राहुल जयसिंह भी इस पूरे एक्सपीरियंस को लेकर बेहद ख़ुश नज़र आए. रिलीज़ होते ही ‘तेरे नाल सजना’ को मिली अपार कामयाबी ने उनकी इस ख़ुशी को दोगुना कर दिया है. वे कहते हैं, “हमें इस बात का अंदाज़ा था कि लोगों को यह गाना पसंद आएगा, मगर लोग इसे इस क़दर पसंद आएगा, ये हममें से किसी नहीं सोचा था.”

मनोज महेश्वर ने इस मौके पर कहा, “मैं शुरू से ही नई प्रतिभाओं को मौका देने में विश्वास करता आया हूं. ऐसे में मैंने अपने फिल्म इंस्टीट्यूट से निक्की और राहुल की प्रतिभा को पहचान‌ कर दोनों को इस गाने में मौका देने का फ़ैसला किया और गाने की कामयाबी से साफ़ है कि दोनों ही मेरी उम्मीदों पर बिल्कुल खरे उतरे हैं.”

वीडियो सॉन्ग के निर्देशक शुभम झा ने कहा कि निक्की और राहुल ने शूटिंग के दौरान बड़ी ही शिद्दत के साथ इस सॉन्ग में काम किया है और ऐसे में गाने में दोनों की केमिस्ट्री देखने लायक है. शुभम कहते हैं, “हम उन सभी लोगों  के शुक्रगुज़ार हैं जिन्होंने हमारे गाने को इतना प्यार दिया.”

महेश्वर फिल्म्स इंटरनेशनल का नया धमाका  ‘तेरे नाल सजना’ –  इस रोमांटिक गाना ने  रिलीज़ होते लोगों के दिलों में बनाई अपनी जगह

Read More
Aug 10, 2022

Posted by | 0 Comments

IT Professional Ashok Prasad Abhishek became a Film Producer Making Quality Cinema in many Languages

IT Professional Ashok Prasad Abhishek became a Film Producer  Making Quality Cinema in many Languages

Bollywood is a world whose charm draws people from other Fields as well. Ashok Prasad (Abhishek), who has been working as an IT professional for 20 years, is the latest example of how he has emerged as a film producer after working in several fields. He is also producing films in many regional languages, including Hindi, under his banner iEveEra Films.

Ashok Prasad (Abhishek) is one of the most recent and young talent of the country. He pays deep attention to his work and this is what inspired him to become a part of the Indian film industry. He has worked with many top artistes including Ravi Kishan, Dinesh Lal Yadav Nirahua and Manoj Tiwari. He is also a well-known producer and director of many great short films.

Ashok Prasad (Abhishek) is a multi-talented person who has worked in various fields like IT Services, Share Marketing, Investing, Crypto etc. Before entering the film industry. Ashok Prasad Abhishek started his journey with iEveEra IT in the year 2000, by creating iEveEra Trending and iEveEra Films Company, he started his journey as a film producer, but soon became a director and film financier also.

When Ashok Prasad (Abhishek) intended to make his first film, the title of the movie is also quite interesting. Yes the name of the movie is “Abhineta se Rajneta”. And the interesting fact is that this will be Bhojpuri’s first biopic film.

Ashok Prasad Abhishek, a resident of Kolkata, seemed to bring the life of Bhojpuri singer actor Nirhua on screen. Just like a folk singer, Nirahua became the star of Bhojpuri film and after Ravi Kishan and Manoj Tiwari became a superstar. Then he also became an MP from Azamgarh. So this is the real story of actor turned politician. Incidentally, Ravi Kishan and Manoj Tiwari have also turned politicians. Ashok Prasad (Abhishek) chose these three actors for this subject. A grand Muhurat was done in Deoghar, the city of Baba Baidyanath. All three stars and MPs Ravi Kishan Shukla, Manoj Tiwari Mridul and Dinesh Lal Yadav Nirahua were present on this occasion. The story of the struggle of Nirahua’s life will be seen in an entertaining and inspiring form in this film. Santosh Mishra is its writer and director. Along with Nirahua, Ravi Kishan and Manoj Tiwari will also be in special roles in the film. On the other hand, Pakhi Hegde and Amrapali Dubey will also be a special attraction of this film.

Higher education from London, Ashok Prasad Abhishek has amazing experience in IT business and event management and has made full use of all those experiences in his debut presentation.

Why did Ashok Prasad (Abhishek) produce Bhojpuri film as his first film? In this context, Ashok Prasad Abhishek says that after doing a lot of research, he agreed to make a film in this language. He thought it better to produce a Bhojpuri film and with Dinesh Lal Yadav he made this film which is based on the real story of Nirahua’s life or you can also call it Nirhua’s biopic. Ashok Prasad (Abhishek) also believes that today by reaching the common people of world cinema, the label of regional films has been removed. Now the quality of the film is seen, not its language or actors. The success of South films has broken all the formulas.

Sources say that after this film, the next project of Ashok Prasad (Abhishek) will be in Hindi and the title of which is also quite catchy “IT in Society”.

IT professional Ashok Prasad Abhishek became a film producer, making quality cinema in many languages

Read More
Aug 9, 2022

Posted by | 0 Comments

The 2nd Edition of the LAB GROWN DIAMOND & JEWELLERY EXHIBITION -LDJS 2022 was ingauarated amidst much fanfare

The 2nd Edition of the LAB GROWN DIAMOND & JEWELLERY EXHIBITION -LDJS 2022  was ingauarated amidst much fanfare

It will be held from 5th to 8th August at Jio World Convention Centre, Mumbai. Organized by the “Lab-Grown Diamond and Jewellery Promotion Council (LGDJPC) “LDJS 2022” is “India’s Biggest Lab Grown Diamonds & Jewellery exhibition for Indian & International Jewellers”

LDJS 2022 will witness more than 100 exhibitors showcasing their varied range of diamonds & jewelry to the visitors. This prestigious expo is expecting more than 45,000 trade visitors, buyers and members of the trade fraternity with an equal number of general visitors from India & abroad attending it

The 1st edition of LDJS was a huge success & was spread across 40,000 square feet at NESCO, Mumbai. LDJS 2022 will have 9 countries participating with 12 Interactive Trade Sessions & 12 Fashion Shows, with models walking the ramp showcasing an array of LGDJS from various manufacturers & exhibitors from India & across the globe

The Inauguration was done by Shashikanth Dalichand Shah, Chairperson, Lab Grown Diamond & Jewellery Promotion Council. His Excellence Mr Donnawit Poolsawat – Consul General, Royal Thai Consulate, Mumbai was the Chief Guest for the event, while the Guest of Honour was Ms Supatra Sawaengsri, Consul & Executive Director,Thai Trade Centre.

Other Guests of Honour included Bharat Shah, President – MDMA, Ashish Pethe, Chairman – GJC, Mehul Shah VP- BDB, Atul Jogani, VP – TGTA Thailand, Ashok Gajera, CMD – Laxmi Diamond, Prashant Mehta, President JAB, Chetan Mehta, VP – IBJA, Ghanshyam Dholakia, HK Group, former MP Narsimhan and many others.

LDJS 2022 is supported by the Bharat Diamond Bourse, Surat Diamond Bourse, The Mumbai Diamond Merchant’s Association, The Lab-Grown Diamond Association – Surat; and by Heera Zhaveraat (HZ) International.

Pics :- Ramakant Munde Mumbai

 

The 2nd Edition of the LAB GROWN DIAMOND & JEWELLERY EXHIBITION -LDJS 2022  was ingauarated amidst much fanfare

Read More