Light-Camera-Action On Strike  Film & TV Industrys 2.5 Lakh Members To Go On Indefinite Strike For Their Demands From 14 August Night 2017

लाइट ,कैमरा, एक्शन बन्द! फिल्म और टीवी इंडस्ट्री के २.५० लाख लोग कल से हड़ताल पर

मुंबई : फिल्म और टेलीविजन धारावाहिकों की शूटिंग के दौैरान सुनाई देने वाला लाइट ,कैमरा, एक्शन  की आवाज मुंबई में कल १४ अगस्त की रात १२ बजे से अनिश्चितकालीन समय के लिये बंद हो जायेगी।  दरअसल, फिल्म  और टेलीविजन इंडस्ट्री में काम करने वाले २.५० लाख लोग १४ अगस्त की रात १२ बजे से हड़ताल पर जाने वाले हैं।

फेडरेशन आॅफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉयज  ने १४ अगस्त की रात १२ बजे से  अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा है। खास बात यह है कि इस सगठन को २२ यूनियनों ने हड़ताल में समर्थन  दिया है।  फिल्म और टेलीविजन शो निमार्ताओं की वायदा खिलाफी के विरोध में  फेडरेशन आॅफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉयज  की तरफ से  १४ अगस्त की रात १२ बजे से अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा की गई है.इसके जिसके अंतर्गत कामगारों की २२ अलग-अलग संस्थाएं आती हैं।  इस हड़ताल में फिल्म एवं टीवी इंडस्ट्रीज के सभी कामगार, टेक्निशियन और कलाकार शामिल हो रहे हैं।  फेडरेशन आफ वेस्टर्न इंडिया सिने इंप्लाईज के प्रेसिडेंट श्री बीएन तिवारी  और जनरल सेक्रेटरी दिलीप पिठवा के मुताबिक १४ अगस्त की रात से मुंबई के किसी भी स्टुडियो में साउंड, कैमरा और एक्शन की आवाज सुनायी नहीं देगी।

श्री तिवारी और पिठवा के मुताबिक फेडरेशन की इस अनिश्चित कालीनहड़ताल के पीछे उद्धेश्य है कि फिल्म और टेलीविजन इंडस्ट्रीज के सभी कामगारों , टैक्निशियनों और कलाकारों के साथ जो बरसों से वायदाखिलाफी और नाइंसाफी हो रही है उसको हमेशा के लिये समाप्त किया जाये। फेडरेशन लंबे समय से मांग करता रहा है कि आठ घंटे की शिफ्ट होे और हर अतिरिक्त घंटे के लिये डबल पेमेंट हो। हर क्राफ्ट के सभी कामगारों , टैक्निशियनों और कलाकारों आदि की चाहे वह मंथली हो या डेलीपैड, पारिश्रमिक में तत्काल वाजिब बढ़ेत्तरी, बिना एग्रीमेंट के काम पर रोक, मिनीमम रेट से कम पर एग्रीमेंट नहीं माना जायेगा। साथ ही जॉब सुरक्षा , उत्तम खानपान और सरकार द्वारा अनुमोदित सारी सुविधायें और ट्रेड यूनियन के प्रावधान हमारी प्रमुख मांग है। मगर निर्माता हमारी मांग को लगातार नजरअंदाज कर रहे हैं। फेडरेशन आॅफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लाइज  के प्रेसिडेंट श्री बीएन तिवारी  और  जनरल सेक्रेटरी दिलीप पिठवा के मुताबिक १५ अगस्त से प्रस्तावित इस हड़ताल के बावत फेडरेशन की तरफ से फिल्म और टेलीविजन शो निर्माताओंं की संस्थायें इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर असोसिएशन, द फिल्म एंड टेलीविजन प्रोड्युसर गिल्ड आॅफ इंडिया लिमिटेड , इंडियन फिल्म एंड टीवी प्रोड्युसर काउंसिल, वेस्टर्न इंडिया फिल्म प्रोड्युसर्स असोसिएशन को भी मंगलवार १ अगस्त को हÞड़ताल की लिखित सूचना दे दी गयी है।बॉलीवुड में काम कर रहे ये कामगार अपना नया एमओयू साइन करवाना चाहते हैं, जिसकी मियाद पिछली फरवरी में खत्म हो चुकी है। ये एमओयू  हर ५ साल में साइन होता है।इस बार नए एग्रीमेंट में कामगारों की मांगों में उनका मेहनताना, सुरक्षा, समय पर भुगतान, काम करने की समय सीमा और बीमा शामिल हैं। इनके मुताबिक, इनका मेहनताना ३ से ६ महीने बाद मिलता है। १८-१८ घंटे काम करवाया जाता है।  फेडरेशन में जो २२ यूनियन शामिल हैं उसमें द साउंड एशोसिएशन आॅफ इंडिया, कैमरा एशोसिएशन , डायरेक्टर एशोसिएशन , आर्ट्स डायरेक्टर एशोसिएशन, स्टिल फोटोग्राफर एशोसिएशन, म्यूजिक डायरेक्टर एशोसिएशन, म्यूजिशियन एशोसिएशन , सिंगर एशोसिएशन, वाइसिंग एशोसिएशन, डांस मास्टर एशोसिएशन, डांसर एशोसिएशन, फाइटर एशोसिएशन , डमी एशोसिएशन , राइटर एशोसिएशन , प्रोडक्शन एशोसिएशन, एडिटर एशोसिएशन , जूनियर आर्टिस्ट एशोसिएशन, महिला कलाकार एशोसिएशन , मेकअप और ड्रेस डिपार्टमेंट एशोसिएशन, एलाइड मजदूर एशोसिएशन और जूनियर आर्टिस्ट सप्लायर एशोसिएशन प्रमुख है।  माना जारहा है कि इस हड़ताल के कारण कई धारावाहिकोें के नये एपिसोड का प्रसारण भी खटाई में पड़ेगा और लोगो को अपने टीवी स्क्रीन पर पुराना एपिसोड ही देखने को मजबूर होना पड़ सकता है। इस हड़ताल से कई फिल्मों की शूटिंग पर भी असर पड़ेगा। — शशिकांत सिंह

Print Friendly, PDF & Email

Author: News-Desk

Share This Post On