2nd Edition of National Children’s Film Festival kick starts in Jaipur

JAIPUR, 14 th NOVEMBER 2016: The second edition of National Children’s Film Festival (NCFF),

organised by Children’s Film Society, India (CFSI) in association with Government of Rajasthan, opened to a colourful start on Monday in the Pink City of Jaipur.

The three-day biennial event was inaugurated by Honourable Minister of State for Information & Broadcasting Shri Rajyavardhan Rathore at the Birla Auditorium here in the presence of Shri Mukesh Khanna, Chairman of CFSI, Dr. Shravan Kumar, CEO of CFSI and prominent Bollywood celebrities Shri Irrfan Khan, Shri Anil Kapoor, Shri Piyush Pandey, Ms. Ila Arun along with our very own little heroes Darsheel Safari, Faisal Khan and Ritvik.

national-children-7

national-children-6

With ‘Make in India’ as the central theme of the second edition of NCFF, the festival will showcase 40 films across 10 theatres in the city from Nov 14 to 16. These films are either made or shot in India or the makers are Indian. The list also includes a score of unreleased films produced by CFSI.

In a bid to expand the market for children's film and encourage talent in the country, Children’s Film Society, India launched the first edition of the National Children’s Film Festival in 2014 in Delhi with ‘Swachtha’ as the festival theme.

national-children-8

national-children-4 national-children-9

The film festival kick started with the screening of CFSI’s offering ‘Gauru’, directed by Ramkishan Choyal, who is from Rajasthan. Gauru holds a special place in the hearts of the audience as the entire film is also shot in Rajasthan. Other fresh content that will be screened at the festival are ‘Budhia Singh – Born to Run’ which will be premiered in NCFF.

While Happy Mother’s Day, Kima’s Lode, Harun Arun, Ek Tha Bhujang are produced by CSFI, Half Ticket, Pasanga 2, Bravo Biju, Dad, I am Watching You are a few curated movies amongst others.

national-children-13 national-children-12

national-children-11national-children-2national-children-1

The films are carefully handpicked to create an opportunity for children to experience qualitative content made exclusively for them. Some of these films have won several awards, globally.

Armed with the objective of developing a taste for good cinema and with a view to getting children acquainted with the basics of film making, CFSI is conducting workshops in filmmaking, Script writing and animation. These Workshops will be conducted for groups of talented and deserving children between the age group of 5 to 16 years.

For the first time in National Children’s Film Festival, CFSI is also holding Open Forums where noted filmmakers of children’s films will interact with the children audience and share their view points on film making and developing quality content for children.

The NCFF will also present a Kids Carnival on all the three days with puppetry shows, tattoo stalls and a specially designed marketing stall. Entry to the carnival, from 10 am to 4 pm, is free.

द्वितीय राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव की जयपुर में शानदार शुरुआत

जयपुर – १४ नवम्बर २०१६ – बाल चित्र समिति, भारत एवं राजस्थान सरकार के संयुक्त तत्वाधान मे आयोजित द्वितीय राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव २०१६, आज बिरला सभाग्रह, जयपुर में एक भव्य समारोह प्रारंभ हुआ |

कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड, माननीय सुचना एवं प्रसारण, केंद्र मंत्री, भारत सरकार ने बिरला सभाग्रह, जयपुर मे आज इस त्रि-दिवसीय बाल फिल्म महोत्सव का उद्घाटन किया | इस कार्यक्रम मे बाल चित्र समिति के अध्यक्ष श्री मुकेश खन्ना और प्रमुख कार्यकारी अधिकारी डॉ श्रवण कुमार के साथ कई जानी मानी फ़िल्मी हस्तियां मौजूद थी | जाने माने अभिनेता श्री इरफ़ान खान NCFF2016 में विशिष्ठ अतिथि और श्री अनिल कपूर, विशेष अतिथि के रूप में उपस्तिथ थे | विज्ञापन क्षेत्र से जुड़े नामी व्यक्तिव पियूष पाण्डे एवं बॉलीवुड अदाकारा इला अरुण भी समारोह में मौजूद थी | इनके आलावा दर्शील सफारी, फैज़ल खान एवं ऋत्विक जैसे कई नामी बाल कलाकारों ने इस कार्यक्रम की शोभा  बढ़ायी.

इस NCFF2016 का केंद्रीय विषय “मेक इन इंडिया” रखा गया है | जयपुर के १० सिनेमा घरों में अगले तीन दिनों में करीब ४० बाल फिल्मों का प्रदर्शन किया जायेगा | या तो यह सभी फिल्में भारत में बनी हुयी हैं या इनके निर्माता भारतीय हैं |

बाल फिल्मों को प्रोत्साहन देने के लिये बाल चित्र समिति, भारत ने वर्ष २०१४ में प्रथम राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव (NCFF) का प्रारंभ दिल्ली में किया था, जिसका विषय “स्वछता” था |

इस बाल फिल्म महोत्सव का प्रारंभ राजस्थान में चित्रित फिल्म गौरू से हुआ | यह गौरतलब है की गौरू के निर्माता नागौर से हैं और एक प्रमुख भूमिका इला अरुण ने निभायी है, जो खुद भी जयपुर से ही हैं | इसके आलावा “बुधिया – ओन दी रन”, हैप्पी मदर्स डे, किमाज़ लोड, हारून अरुण, हाफ टिकेट, पसंगा-२, ब्रेवो बीजू, डैड, आय ऍम वाचिंग यू इत्यादि और भी कई बाल फिल्में भी इस महोत्सव में दिखाई जाएँगी | इनमें से कई फिल्मों ने विश्वस्तिरिय पुरस्कार प्राप्त किये हैं |

इस फिल्म महित्सव मे बाल चित्र समिति, फिल्म निर्माण, एनीमेशन और कथानक लेखन की कार्यशालाओं का आयोजन भी कर रही है | इसके अलावा पहली बार राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में “ओपन फोरम” का आयोजन किया जा रहा है, जहां बच्चे भी फिल्मों में अपने विचार रख पायेंगे |

इसके अलावा बच्चों के लिये विशेष कार्निवाल का भी आयोजन जवाहर कला केंद्र में किया गया है | बाल चित्र समिति का अपना एक “मोबाइल एप्प” भी है, और एक विशेष प्रतियोगिता में प्रत्येक १४वे डाउनलोड को एक विशेष पुरस्कार दिया जायेगा.

बॉलीवुड हस्तियां टिस्का चोपड़ा और फैज़ल खान इस कार्यक्रम के सूत्रधार थे और टेरेंस डांस ग्रुप ने एक रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया

Print Friendly, PDF & Email

Author: News-Desk

Share This Post On